Thursday, 16 July 2015

बाज़ार...

बजार......?
खाली जेब लेकर बजार में
घूमते सवाल उठा मन में की खरीददारी के लिए भी कोई दिन शुभ होता है
उधार माँगा था
खरीद दारी
के लिए
जनाब
तो जबाव मिला बजार से मुझे कोई दिन त्यौहार तो देख लिया करो जानते नहीं आज क्या है मेने भी कह दिया
धन तेरस .......

No comments:

Post a Comment