Thursday, 6 October 2016

Sms

बादशाहों की जिन्दगी भी क्या जिन्दगी है हम फकीरों के सामने
हमने जो लुटा दिया जिन्दगी में वो सब कुछ समेटने में लगे है ......शुभ सवेर जी

No comments:

Post a Comment